मंत्र-श्लोक-स्त्रोतं

राशि अनुसार अपने इष्टदेव का मंत्र जप करने से होंगे धन धान्य से परिपूर्ण

राशिनुसार मंत्र – Mantra According Sun-sign 

आज जिस युग में हम जी रहे हैं, वहां धन अर्थात पैसा एक मौलिक आवश्यकता बन चुका है।  तभी तो बोला जाता है कि “बाप बड़ा ना भईया, सबसे बड़ा रुपईया।” आपने कभी कल्पना की है कि अगर आपकी जेब में पैसा ना हो, आपका बैंक अकाउंट बैलेंस खत्म हो, तब आपका क्या होगा? यह बात सोचने भर से ही हमें डर लगता है।  इसी डर के कारण कई लोग धन प्राप्ति के लिए कई प्रकार के जादू-टोटकों को अपनाते हैं।  लेकिन क्या आपको पता है कि हमारे धर्मों और शास्त्रों में भी धन प्राप्ति के लिए उपाय उपस्थित हैं? हर व्यक्ति की एक चन्द्र राशि होती है और हर चन्द्र राशि का एक ‘स्वामी-ग्रह’ होता है, और हर ग्रह का एक इष्टदेव निश्चित है। अगर हम अपने इष्टदेव को प्रसन्न कर लेते हैं तो हमारी व्यापारिक एवं वित्तीय समस्याओं का अंत हो सकता है।

तो आइये जानते हैं अपनी राशि के इष्टदेव को और उनको प्रसन्न करने वाले मंत्र को, ताकि हमारे जीवन में धन संबंधित समस्याओं का अंत हो सके-

मेष राशि

मेष राशि का स्वामी मंगल ग्रह है।  जीवन में आ रहीं, सभी तरह की समस्याओं के लिए अगर भगवान हनुमान जी की आराधना की जाए तो यह काफी मददगार साबित हो सकती है।

मन्त्र– हनुमते नमः का जाप नित्य रोज करने से, आर्थिक और वित्तीय क्षेत्र में लाभ प्राप्त होता है।

वृष राशि  

वृष राशि का स्वामी ग्रह शुक्र माना जाता है।  वृष जातकों को धन संबंधित सभी तरह की समस्याओं के अंत के लिए माँ दुर्गा की पूजा करना लाभदायक साबित हो सकता है।

मंत्र- दुर्गादेव्यै नम: के जाप से वित्तीय समस्याओं का अंत होता है।

मिथुन राशि  

मिथुन राशि का स्वामी ग्रह बुध है और मिथुन राशि के जातकों को भगवान गणेश जी की पूजा करने से प्रसिद्धी प्राप्त हो सकती है।

मंत्र- गं गणपते नमः के जाप से नौकरी और व्यवसाय में आ रही परेशानियों का अंत होता है।

कर्क राशि

चंद्रमा ग्रह, कर्क राशि का स्वामी होता है।  ज्योतिष के अनुसार चंद्रमा पर भगवान शिव का राज है।  इसलिए अगर कर्क राशि के जातकों को धन संबंधित लाभ प्राप्त करना है तो भगवान शिव की पूजा करनी चाहिए।

मंत्र– नमः शिवाय मन्त्र का नित्य रोज जाप फलदायक साबित होता है।

सिंह राशि

सिंह राशि का स्वामी ग्रह सूर्य है।  सिंह राशि के जातकों को भगवान सूर्य की पूजा करने से और नित्य प्रति अर्ग चढ़ाने से ऊर्जा प्राप्त होती है।

मंत्र- सुर्यायें नमः का जाप करने से लाभ प्राप्त होता है।

कन्या राशि 

कन्या राशि का स्वामी बुध ग्रह माना जाता है।  इस राशि के जातकों को भगवान गणेश जी की पूजा से शीघ्र ही धन सम्बंधित समस्याओं में लाभ प्राप्त होता है।

मंत्र- गं गणपते नमः मन्त्र का जाप प्रतिदिन सुबह-शाम करने से लाभ प्राप्त होता है।

तुला राशि 

तुला राशि का स्वामी ग्रह शुक्र है।  तुला राशि वालों को देवी लक्ष्मी जी की पूजा लाभदायक मानी जाती है।  अब देवी लक्ष्मी जी तो वैसे भी धन की देवी हैं अतः अगर तुला राशि के जातक देवी लक्ष्मी जी को प्रसन्न कर लें तो धन संबंधित समस्याओं का अंत हो जाता है।

मंत्र- ॐ महा लक्ष्म्यै नमः मंत्र का जाप करने से लक्ष्मी की वृद्धि होती है।

वृश्चिक राशि  

वृश्चिक राशि का ग्रह मंगल है।  वृश्चिक राशि वालों के लिए हनुमान जी की पूजा शुभ बताई जाती है।

मंत्र- हं हनुमते नमः मन्त्र के जाप से शारीरिक पीड़ा और धन संबंधित पीड़ा का अंत होता है।

धनु राशि 

धनु राशि ब्रहस्पति ग्रह से संबंध रखती है।  धनु राशि वालों के लिए भगवान विष्णु की पूजा शुभ होती है।

मंत्र- श्री विष्णवे नमः मंत्र के नित्य जाप से व्यवसाय में लाभ प्राप्त होता है।

मकर राशि 

मकर राशि का स्वामी शनि है इसलिए शनि या हनुमान जी की पूजा, इन जातकों के लिए शुभ रहती है।

मंत्र-  ॐ शम् शनिश्चराये नम: मन्त्र का जाप करने से बाधा दूर होती है और सुख-शान्ति मिलती है।

कुंभ राशि

कुंभ का स्वामी शनि है।  शनि के गुरु भगवान शंकर माने जाते हैं, इसलिए इस राशि वालों को शनि के साथ-साथ भगवान शंकर की पूजा करनी चाहिए।

मंत्र- महामृत्युंजय नमः मन्त्र का जाप नित्य प्रति सुबह शाम 108 बार करने से सभी प्रकार के दुःख दूर होते हैं।

मीन राशि 

मीन राशि का स्वामी ब्रहस्पति बताया गया है।  इस राशि के जातकों को भगवान नारायण का ध्यान और मन्त्र जप करने से धन संबंधित समस्याओं में लाभ प्राप्त होता है।

मंत्र- नारायणा नमः एवं गुरुवे नमः मन्त्र का जाप शुभ फल प्रदान करता है।

About the author

Team Bhaktisatsang

भक्ति सत्संग वेबसाइट ईश्वरीय भक्ति में ओतप्रोत रहने वाले उन सभी मनुष्यो के लिए एक आध्यात्मिक यात्रा है, जिन्हे अपने निज जीवन में सदैव ईश्वर और ईश्वरत्व का एहसास रहा है और महाज्ञानियो द्वारा बतलाये गए सत के पथ पर चलने हेतु तत्पर है | यहाँ पधारने के लिए आप सभी महानुभावो को कोटि कोटि प्रणाम

क्या आपको हमारी पोस्ट पसंद आयी ?