Browsing: Shiv Katha

घृष्णेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर – Grishneshwar Jyotirlinga Temple Grishneshwar Temple : महाराष्ट्र में औरंगाबाद के नजदीक दौलताबाद से 11 किलोमीटर दूर घृष्‍णेश्‍वर महादेव का मंदिर (Grishneshwar Jyotirling) स्थित है। यह बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है। कुछ लोग इसे घुश्मेश्वर के नाम से भी पुकारते हैं। बौद्ध भिक्षुओं द्वारा निर्मित एलोरा की प्रसिद्ध गुफाएँ इस मंदिर

भगवान शिव और माता पार्वती की पुत्री क्या आप जानते है कि कार्तिकेय और गणेश के अलावा भगवान शिव और माता पार्वती की एक पुत्री भी थी। जी हाँ, हर कोई शिव पुत्रों के विषय में जानता है किन्तु बहुत कम लोग यह जानते है कि कार्तिकेय और गणेश की एक बहन भी थी, जिसका

अर्धनारीश्वर शिव अवतरण कथा – Ardhanarishvara Shiv Shkati Katha सृष्टि के आदि में जब सृष्टिकर्ता ब्रह्माद्वारा रची हुई सृष्टि विस्तार को नहीं प्राप्त हुई, तब ब्रह्मा जी उस दु:ख से अत्यंत दु:खी हुए । उसी समय आकाशवाणी हुई – ‘ब्रह्मन ! अब मैथुनी सृष्टि करो ।’ उस आकाशवाणी को सुनकर ब्रह्मा जी ने मैथुनी सृष्टि

गणगौर कथा – Gangaur Katha  Gangaur ki Katha – एक बार भगवान शंकर पार्वती जी एवं नारद जी के साथ भ्रमण हेतु चल दिए । वे चलते चलते चैत्र शुक्ल तृतीया को एक गाँव में पहुचे । उनका आना सुनकर ग्राम की निर्धन स्त्रियाँ उनके स्वागत के लिए थालियो में हल्दी अक्षत लेकर पूजन हेतु

महा शिवरात्रि व्रत कथा – Mahashivratri Vrat Katha Mahashivratri Vrat – फाल्गुन मास की कृष्ण चतुर्दशी को महा शिवरात्रि (Mahashivratri in Hindi) के नाम से जाना जाता है। इस दिन उपवास सहित विधि विधान से भगवान शिव की पूजा करने से नरक का योग मिटता है। ऐसी मान्यता है कि महाशिवरात्रि की रात ग्रहों की

बद्रीनाथ धाम | Badrinath Temple Badrinath Temple : हजारों साल से धर्मग्रंथों और पौराणिक कथाओं में बद्रीनाथ (badrinath mandir) को सबसे पवित्र स्थान के तौर पर माना जाता रहा है। यह महान चार धाम यात्रा (Char Dham Yatra) तीर्थ स्थान गढ़वाल की लहरदार पहाडिय़ों में अलकनंदा नदी के किनारे स्थित है | बद्रीनाथ धाम में