Browsing: धार्मिक यात्रा

घृष्णेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर – Grishneshwar Jyotirlinga Temple Grishneshwar Temple : महाराष्ट्र में औरंगाबाद के नजदीक दौलताबाद से 11 किलोमीटर दूर घृष्‍णेश्‍वर महादेव का मंदिर (Grishneshwar Jyotirling) स्थित है। यह बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है। कुछ लोग इसे घुश्मेश्वर के नाम से भी पुकारते हैं। बौद्ध भिक्षुओं द्वारा निर्मित एलोरा की प्रसिद्ध गुफाएँ इस मंदिर

तिरुपति बालाजी मंदिर – Thirupati Balaji Temple भगवान तिरुपति बालाजी का मंदिर (Thirupati Balaji Mandir) आंध्रप्रदेश के चित्तूर जिले के तिरुपति में तिरुमाला पर्वत (Tirupati Balaji Location) पर स्थित हैं| यहाँ आपको तिरुपति बालाजी यानि भगवान व्यंकटेश स्वामी के दर्शन (Tirupati Balaji Darshan) होते है । हिंदू धर्म में तिरुपति बालाजी मंदिर की काफी मान्यता

परशुराम कुंड – Parshuram Kund Temple अरुणाचल प्रदेश यूँ तो जनजातियों का राज्य है, लेकिन यहाँ स्थित परशुराम कुंड (Parshuram Kund Arunachal Pradesh) की वजह से हिन्दू धर्मावलंबियों के लिए भी यह राज्य खास महत्व रखता है। परशुराम कुंड की उत्पत्ति (Parshuram Kund History) की कहानी श्रीमद भागवत, कालिकापुराण और महाभारत में परशुराम द्वारा की

पुरी जगन्नाथ – Puri Jagannath  भगवान जगन्नाथ को विष्णु का 10वां अवतार माना जाता है, जो 16 कलाओं से परिपूर्ण हैं। पुराणों में जगन्नाथ धाम की काफी महिमा है, इसे धरती का बैकुंठ भी कहा गया है। यह हिन्दू धर्म के पवित्र चार धाम बद्रीनाथ, द्वारिका, रामेश्वरम और जगन्नाथ पुरी में से एक है। यहां

कुम्भ मेला – Kumbha Mela कुम्भ पर्व (mahakumbh) विश्व मे किसी भी धार्मिक प्रयोजन हेतु भक्तो का सबसे बड़ा संग्रहण है । सैंकड़ो की संख्या में लोग इस पावन पर्व में उपस्थित होते हैं । कुम्भ (kumbh) का संस्कृत अर्थ है कलश, ज्योतिष शास्त्र में कुम्भ राशि का भी यही चिन्ह है । हिन्दू धर्म

कहाँ है यह मत्स्य देवी का मंदिर  यह मंदिर गुजरात में वलसाड तहसील के मगोद डुंगरी गांव में स्थापित है। अपने ही देश के एक मंदिर में व्हेल मछली की हड्डियों की पूजा कोई पचास-सौ सालों से नहीं बल्कि तीन सौ वर्षों से हो रही है। यह मंदिर गुजरात में वलसाड तहसील के मगोद डुंगरी

गंगोत्री – Gangotri  गंगोत्री (Gangotri Temple) पौराणिक काल से ही एक धार्मिक स्थल के रूप मे प्रसिद्ध रही है. मान्यता है की गंगोत्री धाम (Gangotri Dham) की यात्रा जो की उत्तराखंड के चार धाम (Uttarakhand Chardham Yatra) में प्रमुख है, करने पर आपको वही पुण्य मिलता है जो चार धाम यात्रा (Char Dham Yatra) करने

कामेश्वर धाम यात्रा  – Kameshwar Dham Yatra शिव पुराण में एक कथा का वर्णन मिलता है, जिसमें भगवान शिव कामदेव को अपने तीसरे नेत्र से जलाकर भस्म कर देते हैं। वह पौराणिक जगह आज भी लोगों की आस्था का केंद्र है। दूर-दूर से भोले के भक्त इस मंदिर में माथा टेकने आते हैं। सावन में और

कुक्के सुब्रमण्या मंदिर – Kukke Subramanya Temple भारत के प्राचीन तीर्थ स्थानों में से एक कुक्के सुब्रमण्या मंदिर, (Kukke Subramanya Temple Yatra) कर्नाटक राज्य के दक्षिणा कन्नड़ जिले मैंगलोर के पास के सुल्लिया तालुक के सुब्रमण्या के एक छोटे से गांव में स्थित है | यहां भगवान सुब्रमण्या को पूजा जाता है, भगवान् शिव के पुत्र

कैलाश मानसरोवर यात्रा – Kailash Mansarovar Yatra कैलाश मानसरोवर (Kailash Mansarovar Yatra) को शिव-पार्वती का घर माना जाता है। पौराणिक कथाओं के अनुसार मानसरोवर (Mansarovar Lake) के पास स्थित कैलाश पर्वत ( Mount Kailash Yatra) पर शिव-शंभू का धाम है। कैलाश बर्फ़ से आच्छादित 22,028 फुट ऊँचे शिखर और उससे लगे मानसरोवर को ‘कैलाश मानसरोवर