Browsing: Vastu Tips

लक्ष्मी आगमन के विशेष वास्तु उपचार वास्तु शास्त्र का आधार प्रकृति है। आकाश, अग्नि, जल, वायु एवं पृथ्वी इन पांच तत्वों को वास्तु-शास्त्र में पंचमहाभूत कहा गया है। शैनागम एवं अन्य दर्शन साहित्य में भी इन्हीं पंच तत्वों की प्रमुखता है। अरस्तु ने भी चार तत्वों की कल्पना की है। चीनी फेंगशुई में केवल दो

वास्तु उपाय 2018 – Vastu Remedies 2018 हर चीज़ को करने का एक सलीका होता है। जब चीज़ें करीने सजा कर एकदम व्यवस्थित रखी हों तो कितनी अच्छी लगती हैं। उससे हमारे भीतर एक सकारात्मक उर्जा का संचार होता है। वास्तु हमें यही सिखाता है। ज्योतिष शास्त्र में माना जाता है कि घर के निर्माण

गृह प्रवेश और भूमि पूजन – Grah Pravesh & Bhumi Pujan भवन सम्बन्धी कार्यों की शुरुआत के लिए शुभ माह का चयन करना अति महत्वपूर्ण होता है । भारतीय कैलेण्डर  के अनुसार फाल्गुन, वैसाख एवं सावन के महीने भूमिपूजन, शिलान्यास एवं गृह निर्माण ( Grah Nirman ) हेतु  के लिए सर्वश्रेष्ठ महीने माने गए हैं।

ईशान मुखी भवन (Ishan Mukhi Bhawan) : जिस भवन के सामने – मुख्य द्वार के सामने ईशान दिशा ( उत्तर पूर्व दिशा ) की ओर मार्ग होता है ऐसे भवन को ईशान मुखी भवन कहा जाता है। इस तरह के भवन के शुभ अशुभ के परिणाम का प्रभाव सीधे गृह स्वामी एवं उसकी संतान पर

पेड़-पौधों द्वारा वास्तु उपचार – Vastu Upay Through Tree पेड़-पौधे भगवान द्वारा भेंट की हुई वह चमत्कारिक शक्ति है, यदि इसे संयोजित ढंग से प्रयोग किया जाए तो हर समस्या का समाधान संभव है। आधुनिक वास्तु विज्ञान आज के समय में वरदान से कम नहीं है। यह हमारे जीवन को प्राकृतिक रूप से सुंदर और

Vastu Upay for Money | अचूक वास्तु उपाय से कारोबार में वृद्धि  आजकल कड़ी प्रतिस्पर्धा का जमाना है । लोग अपने व्यापार में आगे बढ़ने के लिए जी जान से प्रयास करते है। इनमें ना केवल उसके मालिक वरन तमाम कर्मचारियों का भविष्य भी दावँ में लगा होता है । किंतु कई बार बहुत परिश्रम

उत्तर-पूर्व में रखें पानी का बहाव बाथरूम : – यह मकान के नैऋत्य-पश्चिम-दक्षिण कोण में एवं दिशा के मध्य अथवा नैऋत्य कोण व पश्चिम दिशा के मध्य में होना उत्तम है। वास्तु के अनुसार पानी का बहाव उत्तर-पूर्व में रखें। जिन घरों में बाथरूम में गीजर आदि की व्यवस्था है, उनके लिए यह और जरूरी है कि वे अपना

स्वस्थ रहने के 5 सरल वास्तु उपाय | Vastu tips For Health at Home स्वस्थ शरीर में ही ईश्वर का निवास होता है। यदि कोई व्यक्ति स्वस्थ ही नहीं है, तो ऐसे में वह ईश्वर की बनाई, इतनी प्यारी मानव शरीर रचना का आनंद ही नहीं उठा सकता है। बेशक आप करोड़पति हों या अरबपति हों, अब

वास्तु दोष निवारण के उपाय (Vastu Dosh Nivaran in Hindi) हर व्यक्ति की कामना होती है कि उसका एक सुंदर एवं वास्तु के अनुरूप घर हो जिसमें वह और उसका परिवार प्रेम, सुख शांति से जीवन जी सकें । लेकिन यदि उस भवन में कुछ वास्तु दोष (Vastu Dosh) हो तो भवन के निवासियों को को