मंत्र-श्लोक-स्त्रोतं

दुर्गा नाममाला

 

दुर्गा नाममाला

दुर्गा दुर्गार्तिशामिनी दुर्गापद्विनिवारिणी |

दुर्गमच्छेदिनी दुर्गसाधिनी दुर्गनाशिनी ||

दुर्गतोद्धारिणी दुर्गनिहंत्री दुर्गमापहा |

दुर्गमज्ञानदा दुर्गदैत्यलोकदवानला ||

दुर्गमा दुर्गमालोका दुर्गमात्मस्वरूपिणी |

दुर्गमार्गप्रदा दुर्गमविधया दुर्गमाश्रिता ||

दुर्गमज्ञानसंस्थाना दुर्गमध्यानभासिनी |

दुर्गमोहा दुर्गमगा दुर्गमार्थस्वरूपिणी ||

दुर्गमासुरसहंत्री दुर्गमायुधधरिणी |

दुर्गमाङगी दुर्गमता दुर्गम्या दुर्गमेश्वरी||

दुर्गभीमा दुर्गभामा दुर्गभा दुर्ग दारिणी |

यह भी पढ़े : श्री दुर्गा चालीसा

नामावलिमिमां यस्तु दुर्गाया मम मानवः पठेत सर्व भयनुमुक्तो भविष्यति न संशयः ||

जो मनुष्य मुझ दुर्गा की इस नाममाला का पाठ करता है वह निःसंदेह सब प्रकार के भयों से मुक्त हो जाएगा

About the author

Team Bhaktisatsang

भक्ति सत्संग वेबसाइट ईश्वरीय भक्ति में ओतप्रोत रहने वाले उन सभी मनुष्यो के लिए एक आध्यात्मिक यात्रा है, जिन्हे अपने निज जीवन में सदैव ईश्वर और ईश्वरत्व का एहसास रहा है और महाज्ञानियो द्वारा बतलाये गए सत के पथ पर चलने हेतु तत्पर है | यहाँ पधारने के लिए आप सभी महानुभावो को कोटि कोटि प्रणाम

क्या आपको हमारी पोस्ट पसंद आयी ?